दहन और ज्वाला class 8th mcq

दहन और ज्वाला class 8th Ncert Solution Science Chapter-7

class 8th Ncert Solution Science Chapter - 8


दहन और ज्वाला class 8th: Important MCQ Quesions
1.दहन की क्रिया के लिए निम्नाकित कौन-सा शर्त अवश्यक है? 
A.दहनशील पदार्थ की उपस्थिति 
B.पदार्थ के ज्वलन ताप की प्राप्ति
C.वायु की उपस्थिति
D.इनमें सभी

2.निम्नाकित में किस ईधन का ऊष्मीय मान सबसे अधिक होता है? 
A.लकड़ी
B.किरोसिन
C.LPG
D.हाइड्रोजन

3.निम्नाकित में कौन-सा पदार्थ दहनशील है?
A.काँच 
B.लोहे का कील
C.सीमेंट
D.किरोसिन

4.निम्नाकित में कौन-सा पदार्थ अदहनशील है?
A.लकड़ी
B.कोयला
C.पेट्रोल
D.पत्थर

5.किसी पदार्थ के दहन का पोषक पदार्थ है? 
A.कार्बन
B.जल
C.ऑक्सीजन
D.कार्बन मोनो ऑक्साइड

6.खाना पकने के लिये सबसे अच्छा ईधन कौन-सा है?A.लकड़ी
B.कोयला
D.हाइड्रोजन
C.LPG

7.ईधन के ऊष्मीय मान का मात्रक कौन है? 
A.kg
B.kj/kg
C.kj
D.k/j

8.निम्न में कौन विस्फोट का उदाहरण है? 
A.लकड़ी का जलना 
B.तेल
C.पटाखा का दहन
D.इनमें कोई नहीं 

9.मोमबत्ती की ज्वाला का मध्य भाग कैसा दिखाई पड़ता है?
A.लाल
B.पीला
C.हरा
D.काला

10.ज्वाला में कितने क्षेत्र होते है? 
A.4
B.3
C.5
D.2 

11.वह ताप जिसपर कोई पदार्थ जलना शुरू करता है, क्या कहलाता है? 
A.ज्वलनताप
B.ज्वला
C.ज्वलाशील
D.दहनशील

12.दहन के लिए आवश्यक है? 
A.हवा
B.पानी
C.आग
D.ज्वला

13.लकड़ी का जलना किस प्रकार के दहन का उदाहरण है?
A.मंददहन
B.विस्फोटक
C.स्वत: दहन
D.इनमें कोई नहीं

14.निम्न में कौन स्वत: दहन का उदाहरण है?
A.श्वेत फास्फोरस
B.लकड़ी का जलना
C.पटाखा
D.इनमें कोई नहीं

15.निम्न में कौन ज्वलनशील पदार्थ है? 
A.लकड़ी
B.कोयला
C.पेट्रोल
D.पत्थर

2.दहन की परिस्थितयों की सूची बनाईए? 
(1) दहन के लिए ईंधन का होना आति आवश्यक है। 
(11) ऑक्सीजन की सही मात्रा में आपूर्ति। 
(111) ऊष्मा देकर ईंधन का ताप उसके ज्वलन ताप पर पहुँचाना। 

3.ईंधन के रूप में LPG और लकड़ी की तुलना कीजिए। Ans-एल० पी० जी० (LPG)
(A) इसका ऊष्मीय मान बहुत काम है। 
(B) इसका ज्वनांक बहुत कम होता है। इसलिए इसे जलाने के लिए अधिक ऊर्जा व्यय नहीं करनी पड़ती। 
(C) यह बिना धुआँ किए जलती है। जिसस प्रदूषण नहीं होता है। 
(D) इसके जलने पर कोई विशैली गैस उतपन्न नहीं होती।(E) इसके आसानी से भंडारित किया जा सकता है।
(F) इसको जलाने पर अवशेष नहीं बचता है। 

लकड़ी-
(A) इसका उष्मीय मान LPG की तुलना में काम होता है। 
(B) इसका ज्वलनाक बहुत अधिक होता है। इसलिए इसे जलाने के लिए पहले अधिक  ऊर्जा व्यय करनी पड़ती। 
(C) यह धुएं के साथ जलता है, जिसस वायु प्रदूषण होता है। 
(D) इसके जलने पर तथा कम वायु में Co उतपन्न होती है। 
(E) ठोस और भारी होने के इसे भंडारित नहीं किया जा सकता है। 
(F) इसको जलने पर रखा जैसे अवशेष बचते हैं। 

4.सोने और चाँदी को पिघलाने के लिए स्वर्णकार ज्वला के किस क्षेत्र का उपयोग करते हैं। और क्यों? 
Ans:- सोने और चाँदी को पिघलाने के लिए स्वर्णकार ज्वला की नीली लौ वाले अदीप्त क्षेत्र अर्थात ज्वला का यह क्षेत्र सबसे गर्म क्षेत्र होता है और सोना एवं चाँदी जैसी धातुओं का गलनांक बहुत अधिक होता है। इसलिए उन्हें पिघलाने के लिए अधिक ऊष्मा की आवश्यकता होती है। 

5.हरी पत्तियों के ढेर को जलाना कठिन होता है परन्तु सूखी पत्तियों में आग आसानी से लग जाती है, समझाइए। 
Ans-हरी पत्तियों के देर को जलाना कठिन होता है। परन्तू सूखी पत्तियों में आग आसानी से लग जाती है, क्योंकि हरी पत्तियों में जल अधिक मात्रा में उपस्थित होता है, जो हरी पत्तियों को जलाने के लिए दी गई ऊष्मा की वशोषित करके वाषिप्त हो जाता है और पत्तियों के ताप को उनके ज्वलन ताप तक बढ़ने नहीं देता। जिसके कारण हरी पत्तियाँ तब तक आग नहीं पकड़ पाती जब तक सारा जल वाषिप्त न हो जाए। सुखी पत्तियों में पानी नहीं होने के कारण ये जल्दी आग पकड़ लेती है क्योंकि इनको जलाने के लिए दी गई ऊष्मा इनके ताप को शीघ्र ही इनके ज्वलन ताप तक पहुँचा देती है और ये जलना शुरू कर देती है। 

6.एक प्रयोग में 4.5 kg ईंधन का पूर्णतया दहन किया गया। उतपन्न ऊष्मा का माप 1,80,000 kg था। ईंधन का ऊष्मीय मान ज्ञात कीजिए। 

Ans:- ईंधन की मात्रा = 4.5 kg उतपन्न ऊष्मा = 1,80,000 kg
ईंधन का ऊष्मी मान = 18000/4.5 = 40,000 kg/kg

7.काराण बताई-
Ans-विधुत उपकरणों से सम्बन्ध आग पर नियंत्रण पाने के लिए जल का इस्तेमाल नहीं किया जा सकता क्योंकि पानी विधुत का सुचालक है और जब वह जल किसी नग्न जीवित तार पर गिराया जाय तो जल फेंकने वाले व्यक्ति को बहुत तेज विधुत का झटाका लग सकता है, जिसस उसकी मृत्यु भी हो सकती है। 

8.समझाइए कि CO2 किस प्रकार आग को नियंत्रित करती है? 
Ans-पेट्रोल और विधुत उपकरण जैसे ज्वलनशील प्रदार्थो में लगी आग को बुझाने के लिए कार्बन डाईऑक्साइड सबसे अच्छा अग्निशामक ऑक्सीजन की तुलना में अधिक भारी होने के कारण CO2 आग को एक कंबल की तरह लपेट लेती है। इससे ईधन और ऑक्सीजन का संपर्क टूट जाता है अत: आग नियंत्रित हो जाती है। CO2 का एक अन्य लाभ यह है कि सामान्यत: यह विधुत उपकरणों को भी की हानि नहीं पहुँचती सिलिंडरों से छोड़े जाने पर CO2 बहुत तेजी से फैलती है और ठंडी हो जाती है। अत:यह न केवल आग को चारों तरफ से घेर लेती है बल्कि ईधन के ताप को भी कम करती है।यही कारण है कि यह अति उत्तम अग्निशामक है। 

9.क्या जंग लगने के प्रक्रम को दहन कहा जा सकता है? विवेचना कीजिए। 
Ans:-नहीं जंग लगने के प्रक्रम को हम दहन  नहीं कह सकते हैं क्योंकि दहन एक तिव्र प्रक्रम है, जबकि जंग लगना एक धीमी प्रक्रिया है। दहन ऊष्मा भी उत्पन्न करता है, जबकि जंग लगने में ऊष्मा उत्पन्न नहीं होती है। 

10.मोमबत्ती की ज्वाला का चिहिन्त चित्र बनाइए।........... ...........   ............ 

Ans-


11.समझाइए कि मोटर वाहनों में CNG के ऊपर रखने पर कप का पानी हो जाता है। प्ररन्तु कप जलता नहीं है। क्यों? 
Ans-मोटर वाहनों में ईधन के रूप में डीजल और पेट्रोल का स्थान अब CNG ले रही है क्योंकि CNG सल्फर और नाईट्रोजन के ऑक्साइडों का उत्पादन अल्प मात्रा में करती है। पेट्रोल जलने के दौरान बिना जले कार्बन कण छोड़ते है जो दमा जैसे श्वास रोग उत्पन्न करते हैं जबकि CNG इस प्रकार के कोई कण नहीं छोड़ती। अत: CNG एक अधिक स्वच्छ ईधन है। 

12.पानी से भरी कागज कप ज्वाला के ऊपर रखने पर कप का पानी गर्म हो जाता है। परंतु कप जलता नहीं है। क्यों
Ans-क्योंकि जल ज्वलन का विरोधी है। वह सारी ऊष्मा को शोषित करता है। कागज की परत पतली रहने के कारण ऊष्मा सीधे जल के सम्पर्क में आ जाती है और उसे गरम करने में खर्च हो जाती है। 

Note: इस वेबसाइट को बनाने का हमारा उद्देश्य बच्चों तक निःशुल्क शिक्षा सामग्री online उपलब्ध कराना है।इस पोस्ट को दूसरें बच्चों तक शेयर कर थोड़ा सहयोग करें। 

Thank you for visiting to my website. I hope you like this post. If you have any questions please write us in the comment box so that I can improve my services. Thank you. 

Post a Comment

Previous Post Next Post

Offered

Offered