झारखंड के दो सपूत Class 8th Hindi Chapter-11 Ncert

झारखंड के दो सपूत Class 8th Hindi Chapter-11 Ncert Question answer


निम्नांकित प्रश्नों के उत्तर लिखें-

1.भारततीय स्वतंत्रता में झारखंड के किन-किन महापुरुषों का नाम आता है? 
उत्तर-भारततीय स्वतंत्रता में झारखंड के अनेक महापुरुषों ने भाग लिया था, जिसमें प्रमुख-तिलका माँझी, सिद्धों-कान्हूँ बिरसा मुड़ा, तेलंगा,खड़िया विश्वनाथ शाहदेव,गणपत राय, शेख भिखारी, वीर बुधू भगत,जतरा टाना भगत, वीर सलामत अली,अमानत अली, शेख हारो आदि हैं। 

2.भारतीय संविधान-सभा में झारखंड क्षेत्र से किन्हें 'निर्वाचित सदस्य के रूप में चुना गया? 
उत्तर-जयपाल सिंह मुंडा तथा बाबू रामनारायण सिंह। 

3.मरांग गोमके जयपाल सिंह मुंडा को कहा गया है। उन्होंने आदिवासियों के कल्यण के लिए अथक प्रयास किया इसी कारण आदिवासी समुदाय के लोगों ने उन्हें 'मरांग गोमके के नाम से पुकारा,जिसका अर्थ होता है-पहान पुरुष। 

4.बाबू रामनारायण सिंह की शिक्षा-दीक्षा में क्या बाधा थी? 
उत्तर-पिता की दयनीय आर्थिक स्थित बाबू रामनारायण सिंह की शिक्षा में मुख्य बाधा थी। 

5.जयपाल सिंह मुंडा ने आई० सी० एस० का प्रतिक्षण किस कारण छोड़ा? 
उत्तर-जयपाल सिंह मुंडा ने आई० सी० एस० का प्रतिक्षण भारतीय हॉकि टीम के कप्तान के रूप में खेलने और भारत को ओलंपिक स्वर्ण पदक दिलाने के महान कर्त्तव्य के कारण छोड़ा। 

6.बाबू रामनारायण सिंह किसके प्रभावित होकर समाज-सेवा में आए? 
उत्तर-बाबू रामनारायण सिंह डॉ० राजेंद्र प्रसाद से प्रभावित होकर समाज सेवा में आए। 

7.भारतीय संविधान किस प्रकार वर्तमान शासन-व्यवस्था की नींव है? 
आज भारतीय शासन-व्यवस्था में हर निर्णय हर कार्य,यहाँ तक कि प्रधानमंत्री से लेकर, गाँव के मुखिया तक की नियुक्त संविधान में तय किए प्रावधाना तथा नियमों के अनुसार होती है। भारत में कीई भी कार्य संविधान से इतर नहीं हो सकता। इसलिए भारतीय संविधान शासन-व्यवस्था की नीव है। 

हमारें इस पोस्ट को पढ़ने के लिए धन्यवाद। अगर आपको इससे कोई मदत मिली हो तो कमेंट जरूर करें और साथ ही अपने दोस्तों के साथ शेयर भी करें।

Post a Comment

Previous Post Next Post

Offered

Offered