गति Class 9th Science Chapter-8 Ncert

गति Class 9th Science Chapter-8 Ncert Question Answer 

इस अध्याय के सभी महत्वपूर्ण बहुविकल्पी प्रश्न-उत्तर का हल दिया गया है। वार्षिक परीक्षा में शामिल होने से पहले इन प्रश्नों की तैयारी अवश्य कर लें। हमारा वेबसाइट नॉट एनo सीo ईo आरo टी में कक्षा नौ के सभी विषयों के प्रश्न उत्तर उपलब्ध है तथा इन सब को तैयार करते समय बहुत सावधानी बरती गई है फिर भी पुस्तक का सहारा अवश्य लें क्योंकि यहां पर उपलब्ध जानकारी से किसी भी प्रकार की हनी के लिए इस वेबसाइट के कर्ता-धर्ता जिम्मेदार नहीं होंगे।


प्रश्न 1.एक वस्तु 16m की दूरी 4 s में तय करती है तथा पुन: 16m की दूरी 2 s में तय करती है। वस्तु की औसत चाल क्या होगी?


हलः

वस्तु के द्वारा तय की गई कुल दूरी =

16 m + 16 m = 32 m

लिया गया कुल समय = 4 s + 2 s = 6 s

औसत चाल = 

= = 5.33 m s–1

इसलिए वस्तु की औसत चाल 5.33 m s–1 है।


प्रश्न 2.चाल एवं वेग में अंतर बताइए? 

चाल

उत्तर-किसी भी दिशा में वस्तु द्वारा एकांक समय में तय की गई दूरी को चाल होती है। चाल एक अदिश राशि है। 

वेग

एक निश्चित दिशा में वस्तु द्वारा एकांक समय में तय की गई दूरी को वेग होता है। वेग एक सदिश राशि है। 

प्रश्न 3.किसी कार पर ब्रेक लगाने पर वह गति के विपरीत दिशा में 6 ms-2 का त्वरण उत्पन्न करती है। यदि कार ब्रेक लगाए जाने के बाद रुकने में 2 s का समय लेती है तो उतने समय में तय की गई दूरी की गणना करें।


हलः

दिया गया है,

a = –6 m s–2 ; t = 2 s तथा v = 0 m s–1.

समीकरण 8.5 से हम जानते हैं,

v = u + at

0 = u + (–6 m s–2) × 2 s

या u = 12 m s–1 .

समीकरण 8.6 से हम पाते हैं,

s = u t + a t 2

= (12 m s–1 ) × (2 s) + (–6 m s–2 ) × (2 s)2

= 24 m – 12 m

= 12 m

प्रश्न 4.गति का वर्णन करें? 

Ans-हम किसी वस्तु की स्थिति को, एक निर्देश बिंदु निर्धारित कर, व्यक्त करते हैं।दिशा में है। हमने स्कूल की स्थिति को रेलवे स्टेशन के सापेक्ष निर्धारित किया है। इस उदाहरण में रेलवे स्टेशन निर्देश बिंदु है। हम दूसरे निर्देश बिंदुओं का भी अपनी सुविधानुसार चयन कर सकते हैं। इसलिए किसी वस्तु की स्थिति को बताने के लिए हमें एक निर्देश बिंदु की आवश्यकता होती है, जिसे मूल बिंदु कहा जाता है 

प्रश्न 5.सरल रेखीय गति किसे कहते हैं? 

Ans-गति का सबसे साधारण प्रकार सरल रेखीय गति है। माना कोई वस्तु सरल रेखीय पथ पर गतिमान है। वस्तु अपनी गति बिंदु ‘O’ से प्रारंभ करती है, जिसे निर्देश बिंदु माना जा सकता है। माना कि भिन्न-भिन्न क्षणों में A, B और C वस्तु की स्थितियों को प्रदर्शित करते हैं। पहले यह C और B से गुजरती है तथा A पर पहुँचती है। इसके पश्चात् यह उसी पथ पर लौटती है और B से गुज़रते हुए C तक पहुँचती है।

प्रश्न 6.एकसमान गति और असमान गति किसे कहते हैं? 

Ans-माना कि एक वस्तु एक सीधी रेखा पर चल रही है। माना पहले 1 सेकंड में यह 50 m, दूसरे सेकंड में 50 m, तीसरे सेकंड में 50 m तथा चौथे सेकंड में 50 m दूरी तय करती है। इस स्थिति में वस्तु प्रत्येक सेकंड में 50 m की दूरी तय करती है क्योंकि वस्तु समान समयांतराल में समान दूरी तय करती है तो उसकी गति को एकसमान गति कहते हैं। इस तरह की गति में समयांतराल छोटा होना चाहिए। हम दैनिक जीवन में कई बार देखते हैं कि वस्तुओं के द्वारा समान समयांतराल में असमान दूरी तय की जाती है। उदाहरण के लिए, भीड़ वाली सड़क पर जा रही कार या पार्क में दौड़ रहा एक व्यक्ति। ये असमान गति के कुछ उदाहरण हैं।


प्रश्न 7.ग्राफ़ीय विधि से गति के समीकरण-

Ans-कोई वस्तु सीधी रेखा में एकसमान त्वरण से चलती है तो एक निश्चित समयांतराल में समीकरणों के द्वारा उसके वेग, गति के दौरान त्वरण व उसके द्वारा तय की गई दूरी में संबंध स्थापित करना संभव है, जिन्हें गति के समीकरण के नाम से जाना जाता है। सुविधा के लिए, इस प्रकार के तीन समीकरणों का एक समुच्चय निम्नलिखित हैंः

v = u + at (8.5)

s = ut + ½ at2 (8.6)

2 as = v2 – u2 (8.7)


प्रश्न 8.एकसमान वृत्तीय गति किसे कहते हैं? 

Ans-जब वस्तु के वेग में परिवर्तन होता है तब हम कहते हैं कि वह वस्तु त्वरित हो रही है। वेग में यह परिवर्तन, वेग के परिमाण या गति की दिशा या दोनों के कारण हो सकता है।जिसमें एक वस्तु अपने वेग के परिमाण को नहीं बदलती, परंतु अपनी गति की दिशा को बदलती है। 

हमारें इस पोस्ट को पढ़ने के लिए धन्यवाद। अगर आपको इससे कोई मदत मिली हो तो कमेंट जरूर करें और साथ ही अपने दोस्तों के साथ शेयर भी करें। अगर आप मुझसे जुड़ना चाहते है तो निचे दिए गए link को follow जोर करें।

  • Facebook
  • Instagram
  • YouTube
  • Home

Post a Comment

Previous Post Next Post

Offered

Offered